Free Sarkari Yojana » सरकारी योजना » पेंशनर की मृत्यु के बाद क्या करे

पेंशनर की मृत्यु के बाद क्या करे

पेंशनर की मृत्यु के बाद क्या करे penshaner ki mrityu ke bad kya karne : पेंशनर की मृत्यु के बाद उसके परिवार वालो को फ़ैमिली पेंशन दी जाती है। फैमली वालो को पेंशन डिपार्टमेंट ऑफ पेंशन एंड पेंशनर्स वेलफेयर के नियम के आधार पर दी जाती है। इसके नियम के आधार पर ही इनकी पेंशन डिसाइट होती है की कितनी मिलेगी।

पेंशनर की मृत्यु के बाद आप इस नियम के अनुसार उनकी पेंशन मृतक के परिवार वालो को दे सकते है और वे परिवार वाले मिली हुई पेंशन को उपयोग कर सकते है।

penshaner ki mrityu ke bad kya karne

पेंशनर की मृत्यु के बाद सरकार का कहना क्या कहना है ?

पेंशनर की मृत्यु के बाद उसके नॉमनी के प्रावधान को जरुरी बनाया जा रहा है। क्युकी पेंशनर की मृत्यु के बाद उसकी पेंशन उसके फैमली को लेने में कोई भी परेशानी न हो और वो आसानी से उसकी मृत्यु के बाद पेंशन ले सके। और मानसिक रूप से परेशान बच्चे बिना किसी परेशानी के कोर्ट से गार्डियनशिप सर्टिफिकेट ले सके।

अगर उनकी फैमली या बच्चो के पास ये सर्टिफिकेट है तो वो आसानी से पेंशन ले सकते है पेंशनर की मृत्यु के बाद अगर पेंशनर की फैमली के पास गार्डियनशिप सर्टिफिकेट है तो कोई भी उनको पेंशन देने से मना नहीं कर सकता है।

पेंशनर की मृत्यु के बाद किसे मिलती है पेंशन

  • पेंशनर की मृत्यु के बाद उसकी पत्नी को पेंशन मिलना शुरू हो जाती है।
  • दिव्यांग बच्चा जो अपनी जीवन को चलाने के लिए कमा नहीं पते है और उसकी शादी की उम्र न हुई है। तो उसे भी पेंशन मिलती है।
  • पेंशनर की मृत्यु के बाद आश्रित उसके माता-पिता को भी मिलती है।
  • पेंशनर की मृत्यु के बाद आश्रित उसके भाई-बहन को।
  • 25 साल से कम अविवाहित बेटा और विवाहित/विधवा/तलाकशुदा बेटी (उम्र की कोई सीमा नहीं) जो कि मृतक पर निर्भर हों।

पेंशनर की मृत्यु के बाद कौन कौन पेंशन कितने समय तक पाने योग्य है

  • पत्नी – पेंशनर की पत्नी को आजीवन पेंशन मिलती है।
  • बच्चे – अगर बच्चा 25 साल का है और उसकी शादी नहीं हुई है तो वह जब तक कमाना नहीं शुरू कर रहा है तब तक ले सकता है। और अगर वह बेटा दिव्यांग है तो वह आजीवन ले सकता है।
  • माता पिता – पेंशनर की मृत्यु के बाद आश्रित उसके माता-पिता को भी मिलती है।
  • भाई – बहन – आश्रित भाई – बहन जब तक कमाना शुरू न करे तब तक ले सके है।

पेंशनर की मृत्यु के बाद क्या करे

पेंशनर की मृत्यु के बाद आप उसकी पेंशन को उसके किसी भी फैमली के किसी भी मेंबर को पैसे दिलवा सकते हो। और अगर आप को पेंशन देने से मना किया जाता है और अगर आप पेंशन के पात्र है तो भी आप को पेंशन नहीं दी जा रही है तो आप उस पर कार्यवाही कर सकते है।

आप को और आसानी से पेंशन गार्डियनशिप सर्टिफिकेट से मिल सकता है।

पेंशनर की मृत्यु के बाद हमे उसकी पेंशन को उसके परिवार वालो को दे देनी चाहिए। और किस किस को परिवार के सदस्य को पेंशन मिलेगी और किस समय तक पेंशन मिलेगी ये गार्डियनशिप सर्टिफिकेट नियम पर निर्भर करता है।

मुझे 5000 पेंशन मासिक कैसे मिल सकती है 

सामान्य प्रश्न (FAQ)

पेंशनर की मृत्यु हो जाने पर उसकी पत्नी को पेंशन का कितना प्रतिशत मिलेगा ?

पेंशनर की मृत्यु हो जाने पर उसकी पत्नी को 50 प्रतिशत पेंशन मिलेगा?

फैमिली पेंशन कितनी बनती है ?

आप को और आसानी से पेंशन गार्डियनशिप सर्टिफिकेट से मिल सकता है। इसी के नयम के अनुसार फैमिली पेंशन बनती है।

पेंशन और पारिवारिक पेंशन में क्या अंतर है ?

पेंशन में आखिरी वेतन का 50 प्रतिशत कम से कम भुगतान किया जाता है। और पारिवारिक पेंशन में 30 प्रतिशत भुगतान किया जाता है।

पेंशनर की मृत्यु के बाद क्या करे इसके लिए हमने आप को इस आर्टिकल के माध्यम से समझा दिया है और हम आशा करते है की आप को ये सारी जानकारिया आप को अच्छे से समझ आ गई होंगी इस जानकारियों को आप ज्यादा से ज्यादा शेयर करे ताकि और भी लोगो को पेंशन की जानकारी मिल सके। धन्यवाद !

शेयर करें :

Leave a Comment